Home / Hindi News / World Hindi News / अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का मूर्खतापूर्ण बयान: प्रदूषण भारत फैलाये और पैसे भरे अमेरिका
trump-on-india

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का मूर्खतापूर्ण बयान: प्रदूषण भारत फैलाये और पैसे भरे अमेरिका

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अपने काम से ज्यादा बड़बोलेपन के लिए जाने जाते है। चुनाव जीतने के लिए उन्होंने अमेरिका को फिर से महान बनाने, मेक्सिको से होने वाले अवैध प्रवास को रोकने के लिए अमेरिका मेक्सिको सीमा पर दिवार बनाने और दिवार बनाने का खर्च मेक्सिको से वसूलने, हिलेरी क्लिंटन को जेल भेजने, मुस्लिम लोगो की अमेरिका में एंट्री रोकने और अमेरिकी लोगो के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने -जैसे अनेको लोकलुभावन वायदे किये।

चुनाव जीतने के बाद पहले 100 दिन में वो कोई खास काम नहीं कर पाए है। अमेरिकी अदालते, कांग्रेस और संसद ने उन्हें विभिन्न नियमो के जंजाल में फसाकर उनके द्वारा लागू हर फैसलों को रद्द कर रहा है। चुनाव जीतने से पहले दुनिया के मामलो से अमेरिका को दूर रखने की बात करने वाले ट्रम्प नार्थ कोरिया, ईरान, चीन, सीरिया और रूस से तनाव बढ़ा रहे है। अमेरिकी मीडिया और ट्रम्प के बीच 36 का आंकड़ा है।
हम सभी जानते है कि विकसित और तेजी से विकास कर रहे विकाशील देशो द्वारा industrilization को प्राथमिकता देने के कारण धरती का तापमान असमान्य तरीके से बढ़ रहा है। फलस्वरूप हर जगह भीषण गर्मी, भयानक ठण्ड, बेमौसम बरसात/बर्फ़बारी, बाढ़, भूकंप, जवालामुखी जैसी घटनाये हो रही है जिसमे मानव जाति का ही नुकसान हो रहा है। बढ़ते ग्लोबल वार्मिंग के वजह से ही मालदीव और बांग्लादेश जैसे देशो के अस्तित्व पर ही खतरा मंडराने लगा है। 
धरती के बढ़ते तापमान को रोकने के लिए दुनिया के लगभग सभी प्रमुख देशो ने पेरिस क्लाइमेट डील को लागू करने का प्रण लिया था।
अब ट्रम्प पेरिस क्लाइमेट डील से अमेरिका को बाहर निकालने की बात कर रहे है और दुनिया भर में प्रदुषण फ़ैलाने का जिम्मा चीन, रूस और भारत जैसे देशों पर लगा रहे है।
हम सभी जानते है दुनिया भर में सबसे ज्यादा प्रदुषण अमेरिका ही फैलाता है। इसलिए ट्रम्प अपने आप को सबसे होशियार और दुनिया के लोगो को बेवकूफ समझना बंद कर दे। धरती के बढ़ते तापमान को कम करने के लिए दुनिया के सभी देशों को ईमानदार और ठोस कदम उठाने होंगे नहीं तो घरती नष्ट होने पर अमेरिका भी नहीं रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*