Home / Hindi News / भारत सरकार के 67,000 कर्मचारियों का सर्विस रिकॉर्ड वेरिफिकेशन शुरू, सरकारी संस्थाओं के कार्यप्रणाली में सुधार लाने की ईमानदार कोशिश
bribe-corruption-india-modi-govt-service-records

भारत सरकार के 67,000 कर्मचारियों का सर्विस रिकॉर्ड वेरिफिकेशन शुरू, सरकारी संस्थाओं के कार्यप्रणाली में सुधार लाने की ईमानदार कोशिश

भारत में लोग सरकारी नौकरियों के दीवाने है। कारण है-

  1. हर महीने मिलने वाली मोटी सैलरी
  2. आराम करने की पूरी आजादी
  3. ऊपरी आमदनी का उपाय
  4. भ्रष्टाचार करने की खुली छूट
  5. वर्क परफॉरमेंस का कोई मूल्यांकन नहीं
  6. मेडिकल लीव, सिक लीव और ढेर सारी छुट्टियाँ।

यही वजह है कि लगभग हर सरकारी सर्विस वाले बाबूजी अपने आप को लाठ साहेब समझते है और जनता के जरुरी काम को टरकाने का काम करते है।

भारत को बदलने के लिए केंद्रीय सरकार अनेक क्रन्तिकारी कदम उठा रही है। अब आलसी सरकारी कर्मचारियों के बुरे दिन शुरू होने वाले है।

कुछ दिन पहले हमने अपनी रिपोर्टिंग में बताया था कि मोदी सरकार ने 129 सरकारी कर्मचारियों को परफॉर्म न करने की वजह से नौकरी छोड़ने का आदेश दिया था।

 अब मोदी सरकार केंद्र सरकार के करीब 67,000 कर्मचारियों का सर्विस रिकॉर्ड खंगाल रही है ताकि निक्कमे और भ्रष्ट लोगो का पता लगाया जा सके। तो सरकारी सर्विस में आराम फरमाने वाले बाबु लोगो एक्टिव हो जाओ।ऐसा न हों की आपको भी जॉब से निकाल दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*

x

Check Also

yogi-adityanath-gorakhpur-hospital

गोरखपुर में अस्पताल और ऑक्सीजन सप्लायर कंपनी के बीच हुए झगड़े में 64 बच्चो की मौत, लेकिन इल्जाम योगी सरकार पर

गोरखपुर: चीन के बाद दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाले देश भारत में इंसानी जान काफी सस्ती ...