Home / Hindi News / ममता बनर्जी की राजनितिक गुंडागर्दी-मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए माँ दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन पर एक दिन के लिए रोक का आदेश
mamta-durga-pooja

ममता बनर्जी की राजनितिक गुंडागर्दी-मुस्लिम तुष्टिकरण के लिए माँ दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन पर एक दिन के लिए रोक का आदेश

कोलकाता: यू तो भारत में मुसलमानों की और तुष्टिकरण करने के लिए अनेक नेता है लेकिन वेस्ट बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की बात ही कुछ अलग है। पहले लेफ्ट पार्टी के 35 साल के राज में वेस्ट बंगाल बर्बाद हुआ और अब ममता बनर्जी के राज में जिहादी मुस्लिम आबादी राज्य में रहने वाली हिन्दू आबादी को जड़ से साफ़ करने में लगी है। घुसपैठिये बांग्लादेशी मुस्लिमो के वोट के दम पर बंगाल की सत्ता पर राज करने वाली ममता मुसलमानो को खुश करने के लिए इस्लामिक आतंकवाद का मौन समर्थन करती है और राज्य में मुसलमानो द्वारा हिन्दुओ के प्रति किये गए अपराध को नजरअंदाज कर देती है। जैसे-जैसे राज्य में मुस्लिम समुदाय की आबादी बढ़ती जा रही है वैसे वैसे वेस्ट बंगाल इस्लामिक आतंकवाद, हाई क्राइम रेट, लव जिहाद, ड्रग्स कारोबार और मुस्लिम गुंडागर्दी के लिए बदनाम होता जा रहा है। इस राज्य के हालात बिहार से भी खराब है। पढ़े-लिखे लोग राज्य से पलायन कर रहे। हर सरकारी विभाग में भ्रष्टाचार जोरो पर है। घपले घोटाले की वजह से राज्य भारी कर्ज में डूब गया है। इन सब समस्याओं को जड़ से ख़त्म करने के बजाये ममता बनर्जी मुस्लिम तुष्टिकरण में लगी हुई है और हर मामले में बीजेपी और आरएसएस को गरियाने वाला भारत का जिहादी मीडिया इस मामले में बिलकुल खामोश है।

 

इस वर्ष दुर्गा पूजा की दशमी(जिसमे माँ दुर्गा की मूर्ति का विसर्जन होता है) और मुसलमानो का मुहर्रम ( जिसमे मुस्लिम समुदाय सड़क पर जुलुस निकाल कर तालवारवाजी और चंदे की वसूली करता है) एक ही तारीख(1 अक्टूबर) को पड़ रहा है। मुस्लिम आबादी को खुश करने के लिए ममता बनर्जी ने वेस्ट बंगाल के हिन्दुओ को दशमी को दशमी के दिन होने वाले मूर्ति विसर्जन पर रोक लगाने का आदेश जारी किया है।

 

ममता सरकार के इस आदेश जी सोशल मीडिया में काफी आलोचना हो रही है।लेकिन भारतीय मीडिया का एक बहुत बड़ा वर्ग, सेक्युलर मीडिया कर्मी, तथाकथित हिन्दू आतंकवाद का राग अलापने वाले दोगले बुद्धिजीवी और सेक्युलर राजनेता चुप है। एक मुस्लिम युवक के मरने वाले Not In My Name का ड्रामा आयोजित करने वाले स्वघोषित बुद्धिजीवी भी अपने अपने बिल में छुप गए है। बीजेपी और आरएसएस के नेताओ ने ममता बनर्जी का तालिबानी आदेश को न मानने का प्रण लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

*

x

Check Also

lalu-prasad-pratap-sons-tejashvi-and-tej

बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री ने किया राष्ट्रगान का अपमान, देशद्रोह का मामला दर्ज

पटना, बिहार: इधर कुछ दिनों से बिहार लगातार नेशनल और इंटरनेशनल मीडिया में बना हुआ है। ...